Breaking

अभाविप ने मनाया वीरांगना लक्ष्मी बाई जी की जयंती नवागढ़ में

अभाविप ने मनाया वीरांगना लक्ष्मी बाई जी की जयंती




नवागढ़। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद नवागढ़ इकाई के कार्यकर्ताओं ने आज वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई जी की जयन्ती के पावन अवसर पर रानी लक्ष्मीबाई जयंती मनाया। कार्यक्रम का शुभारंभ रानी लक्ष्मी बाई और भारत माता के तैलचित्र पर पुष्प गुच्छ अर्पित कर एवं दीप प्रज्वलित कर किया गया। कार्यक्रम संयोजक हितेश साहू ने सर्वप्रथम युवाओ को आगमन हेतु बधाई और धन्यवाद देते हुए संबोधन में कहा की झांसी की रानी लक्ष्मीबाई वास्तविक  में आदर्श वीरांगना थीं। वे कभी आपत्तियों से नहीं घबराई, कभी कोई प्रलोभन उन्हें अपने कर्तव्य पालन से विमुख नहीं कर सका अपने पवित्र उद्देश्य की प्राप्ति के लिए वह सदैव आत्मविश्वास से भरी रहीं।
कार्यक्रम में प्रमुख रूप से उपस्थित अनुराग केशरवानी ने युवाओ को रानी लक्ष्मी बाई जयंती की बधाई देते हुए कहा कि भारतीय वसुंधरा को गौरवान्वित करने वाली झांसी की रानी वीरांगना लक्ष्मीबाई कुशल योद्धा एवं पराक्रमी थीं तथा साथ ही रण कौशल एवं शास्त्रकला में भी निपुण थी।
अतिथि के रूप में पहुचे युवा समाज सेवी सुखनंदन दास (एन.वाय.वी) ने भी युवाओ को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई वह भारतिय विरांगना थी। जिन्होंने स्वतंत्रता के लिए रणभूमि में हँसते-हँसते अपने प्राण न्योछावर कर दिए थे। भारत स्वतंत्रता के लिए सन 1857 में लड़े गए प्रथम स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास इन्होंने ही अपने रक्त से लिखा था। हम सब के लिए उनका जीवन आदर्श के रूप में है। कार्यक्रम का संचालन हितेश साहू ने किया और अंत मे कार्यक्रम का आभार प्रदर्शन डिगेश मनहर ने किया।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रीतम दास,अंकित तिवारी,दुर्गेश यादव,भोजराम साहू,सुभाष पाटले, रामायण मधुकर ,दीपक,एकेश पांडेय,फागुराम पटेल,अमितेश तिवारी, कोमल साहू, केशव चंद्रा सहित कार्यकर्तागण उपस्थित रहे।
Powered by Blogger.