Breaking

महात्मा गांधी की जयंती हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया ।


सिउड़! भारत सरकार युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय नई दिल्ली के शिर्ष नेतृत्व में नेहरू युवा केन्द्र संगठन चाम्पा के नवागढ़ ब्लॉक एन.वाय.वी. सुखनंदन दास द्वारा ग्राम पंचायत सिउड़ में गाँधी जयन्ती के पावन अवसर पर गाँधी सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ ग्राम के सरपंच, उप सरपंच एवं एन.वाय.वी. सुखनन्दन दास द्वारा गांधी जी की प्रतिमा पर दिप प्रज्वलित कर और श्रीफल तोड़कर किया गया। तत्पश्चात कार्यक्रम प्रारंभ हुआ जिसमें गांव के बच्चों द्वारा गांधी जी पर कविता, कहानी, और गीत के माध्यम से  अपनी खुशी जाहिर किये। जिन जिन बच्चों ने कार्यक्रम में अपनी प्रतिभा को दिखाया उनको सरपंच, उपसरपंच ,एवं एन.वाय.वी., के द्वारा पुरस्कार देकर उनको प्रोत्साहित करने का प्रयास किया।
गाँव के सरपंच महोदया जानकी बाई साहू ने सबको गांधी जयंती की शुभकामनाएं देते हुए सबको ग़ांधी जी द्वारा देश के लिए किए कार्यो को बताया गया और सभी से गांधी जी बताये मार्गो पर चलने की अपील किया गया। कार्यक्रम संयोजक सुखनंदन दास ने युवाओ को प्रोत्साहित करते हुए कहा साथियों! यह बात सही है कि हम सभी गांधीजी का काफी सम्मान करते हैं। लेकिन उनके सपने तो सभी पूरे होंगे जब हम उनके बताए शांति, अहिंसा, सत्य, समानता, महिलाओं के प्रति सम्मान जैसे आदर्शों पर चलेंगे। 
तो आज के दिन हमें उनके विचारों को अपने जीवन में उतारने का संकल्प लेना चाहिए।  

 गांव के उप सरपंच प्रदीप हंसराज ने 'अहिंसा' को बताते हुए कहा कि जब भी अहिंसा की बात आती है, तो सबसे पहले 'बापू' का नाम आता है। महात्मा गांधी ने न सिर्फ भारत, बल्कि पूरी दुनिया को अहिंसा के मायने समझाए। बताया कि अहिंसा एक व्यक्तिगत आदत है जिसका अर्थ है  किसी भी परिस्थिति में खुद को या दूसरों को क्षति न पहुंचाई जाए।
इस कार्यक्रम में गांव के पंचगण उज्जैन दास, चंद्रेश परमहंस, इंद्रपाल धीवर, वीरेंद्र गढ़ेवाल, तारा बाई, सरोजनी बाई, एव गाँव के छोटन साहू जी,नंदलाल, अजय कुमार यादव,एवं सुषमा, मंदाकनी, सानिया, नंदनी, कविता,सुलोचना, हेमा सूर्यवंशी, संजना ग्रामवासी इत्यादि उपस्थित रहे।
Powered by Blogger.